तय करना मुश्किल है;
इंसान को तौलना कैसे है।
दान दिए गए पैसों से;
या वादों की फेहरिस्त से।
शायद ऊंचे ओहदों से;
नहीं नहीं कपड़ों की सलवटों से।
मुझे लगा अट्टालिकाओं से;
या फिर पनघट की दूरी से।
हर धर्म के अलग पहनावे से;
नहीं तो भाषा या बोली से।
सही होगा बदन के रंग से;
या मन कि रंगत से।
तय करना मुश्किल है!
सुना है, आजकल सहायता राशि को तौल बनाया है।

If you can,Donate for COVID19 as your capabilities