यूं ज़िक्र न किया करो,
यूं ज़िक्र न किया करो,हमारा।
दुनिया कमबख्त है..
जवाबों से,
हां, जवाबों से…
बुरा हाल हो जायेगा तुम्हारा।
के जब लोग पूछें नाम हमारा,
तब न लेना आंखों का सहारा।
के जब पूछें लोग नाम हमारा,
न,,,लेना आंखों का सहारा,,,,
दौर ऐसा भी होगा,
सुन लो,,,
दौर ऐसा भी होगा…
जब दिल ओ जुबां पे जोर न होगा।
गिन ना सकोगे धड़कनों को,
सच कहता हूं….
तुम धड़कनों को गिन न सकोगे….
जब नाम जुबां पे हमारा होगा।
___________K_logs(केशव डेहरिया)